भारत में 2020 तक दिल के मरीज होंगे सबसे ज्यादा

नयी दिल्ली: देश में 2020 तक दिल की बीमारी से पीड़ति लोगों की संख्या दुनिया में सबसे ज्यादा होगी। यह दावा    कार्डियोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया की ओर से कराये गये ताजा सर्वेक्षण में किया गया है।

सर्वेक्षण के अनुसार देश में दिल के मरीजों में इस समय 54 लाख लोग हार्ट फेल्यर से पीड़ित हैं। सोसाइटी के अध्यक्ष डाक्टर शिरिष हिरेमथ का कहना है कि इस स्थिति को देखते हुए ही 29 सितंबर को वर्ल्ड हार्ट डे के अवसर पर विशेषज्ञों ने इस बीमारी के प्रति लोगों को जागरुक बनाने के लिए इससे जुड़े लक्षणों के प्रति उन्हें सचेत करते हुए इन्हें तुरंत पहचान कर जरुरी इलाज करने की सलाह दी है।

श्री हिरमेथ के अनुसार भारत में जितनी तेजी से ह्दयघात और उससे होने वाली मृत्युदर में बढ़ोतरी हो रही है उसे देखते हुए इसे प्राथमिकता देने की जरुरत है। बीमारी के बढ़ते मामलों को देखते हुए सभी हितधारकों को सामुदायिक स्तर पर बीमारी के प्रति जागरुकता बढ़ाने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि हार्ट फेल्योर और हार्ट अटैक एक अवस्था नहीं है दोनों में काफी अंतर होता है।

हॉर्ट फेल्योर की स्थिति में दिल की मांसपेशियां कमजोर हो जाती हेैं जिससे वह रक्त को प्रभावी तरीके से पंप नहीं कर पातीं । इससे दिल तक ऑक्सीजीन व जरुरी पोषक तत्वों के पहुंचने की गति सीमित हो जाती है जबकि हार्ट अटैक दिल के काम बंद कर  देने की अवस्था होती है जिससे इन्सान की मौत हो जाती है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.