आइडिया-वोडाफोन का विलय, बन गई एक कंपनी

नई दिल्ली/मुंबई: आदित्य बिड़ला समूह की टेलिकॉम कंपनी आइडिया सेलुलर में वोडाफोन इंडिया का विलय हो गया है। कुमार मंगलम बिड़ला इस नई कंपनी के चेयरमैन बनाए गए हैं। इस नई सेलुलर कंपनी में वोडाफोन का 45 फीसदी हिस्सा होगा। बाकी आइ़डिया और अन्य शेयरधारकों की हिस्सेदारी होगी। सोमवार को हुई इस घोषणा के बाद आइडिया-वोडाफोन के विलय से बनी नई सेलुलर कंपनी देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी बन जाएगी। इस कंपनी में वोडाफोन की 45 फीसदी, आइडिया प्रमोटर्स के 26 फीसदी और बाकी पब्लिक शेयर होल्डर्स होंगे। इस नए परिवर्तन के बाद अब आदित्य बिड़ला समूह 4जी, 4 जी प्लस और 5 जी तकनीकी की विस्तार योजनाओं को पूरे देश में लागू कर पाएगा।

डिजिटल कंटेट और आईओटी सेवाओं का भी विस्तार किया जा सकेगा। इस विलय के बाद नई कंपनी में वोडाफोन के 20.5 करोड़ ग्राहक और आइडिया सेलुलर के 19.0 करोड़ ग्राहक शामिल होंगे, जिससे नई कंपनी के ग्राहकों की संख्या 39.5 करोड़ ग्राहकों के बराबर हो जाएगी। विलय के बाद बनी नई कंपनी का राजस्व 80 हजार करोड़ रुपये तक पहुंचने का अनुमान है। साथ ही लागत घटने के चलते कंपनी के मुनाफे में 250-350 पाइंट की बढ़ोतरी हो सकती है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.