स्टार्टअप्स के लिए सरकार ने सृजित की 10000 करोड़ की राशि

नई दिल्ली: सरकार ने शुक्रवार को कहा कि स्टार्टअप्स की वित्तीय जरूरतों की पूर्ति के लिए 10,000 करोड़ रुपये राशि की निधि बनाई गई है। आधिकारिक बयान में कहा गया है कि उम्मीद की जाती है कि निधियों के कोष (एफएफएस) की योजना की प्रगति और निधि की उपलब्धता के आधार पर 14वें और 15वें वित्त आयोग के चक्रों के तहत प्रदान किया जाएगा। उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) ने 24 जून, 2019 तक 19,351 स्टार्टअप्स को मान्यता प्रदान की है।

डीपीआईआईटी निगरानी एजेंसी है और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) एफएफएस की संचालन एजेंसी है। बयान के अनुसार, ”सिडबी ने 49 सेबी द्वारा पंजीकृत वैल्पिक निवेश कोषों (एआईएफ) को 3,123.20 करोड़ रुपये का वचन दिया है। इन कोषों में 27,478 करोड़ रुपये राशि की निधि जुटाई गई है।” बयान में कहा गया कि स्टार्टअप्स के लिए निधि कोष से 483.46 करोड़ रुपये की निकासी की गई है। आगे एआईएफ ने 247 स्टार्टअप्स में 1,625.73 करोड़ रुपये का कुल निवेश किया है।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.