मंदी जारी : घरेलू यात्री कारों की बिक्री में 36 फीसदी की गिरावट

नई दिल्ली: घरेलू यात्री कारों की बिक्री में गिरावट जारी है। इस सेगमेंट में जुलाई में 35.95 फीसदी की गिरावट हुई है। उद्योग पर्यवेक्षकों के अनुसार, जीएसटी के कारण उच्च कीमत, कम मांग, पर्याप्त नकदी की कमी से खरीद में कमी आई है। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स (एसआईएएम) के अनुसार, घरेलू बाजार में यात्री कारों की बिक्री जुलाई 2018 में बेची गई 191,979 यूनिट से घटकर 122,956 यूनिट रह गई है। यात्री वाहनों के अन्य उप-खंडों में भारत में बेचे जाने वाले उपयोगिता वाहनों की संख्या जुलाई 2019 में 15.22 फीसदी घटकर 67,030 यूनिट रह गई, जबकि 10,804 वैन पिछले महीने बेची गईं, जो 2018 के इसी महीने बेचे गए 45.68 फीसदी से कम है। कुल मिलाकर यात्री वाहन की बिक्री जुलाई में 30.98 फीसदी गिरी।

एसआईएएम ने कहा कि वाणिज्यिक वाहन खंड में घरेलू बिक्री पिछले महीने 56,866 यूनिटों की बिक्री के साथ 25.71 फीसदी की गिरावट रही। इसी तरह से डाटा से पता चलता है कि तिपहिया वाहनों की बिक्री धीमी रही। इस खंड में 7.66 फीसदी की गिरावट हुई। इसके अलावा दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 16.82 फीसदी की कमी के साथ 1,511,692 यूनिट रही। इसमें स्कूटर, मोटरसाइकिल और मोपेड शामिल हैं।एसआईएएम के अनुसार, भारतीय ऑटोमोबाइल सेक्टर में जुलाई 2019 में कुल बिक्री 18.71 फीसदी की गिरावट रही।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.