नोटबंदी से बढ़ी औपचारिक अर्थव्यवस्था : शाह

नयी दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि नोटबंदी से विकास दर तेज हुई है तथा औपचारिक अर्थव्यवस्था का आकार बढ़ा है।उद्योग संगठन फिक्का द्वारा यहाँ आयोजित एक कार्यक्रम में श्री शाह ने मोदी सरकार की तीन साल की उपलब्धियाँ गिनाते हुये कहा कि भारत को दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्यवस्था बनने से कोई नहीं रोक सकता। उन्होंने कहा “इस दौरान सरकार ने कई ऐसे कदम उठाये हैं जिसके लिए उसे लोगों की नाराजगी और आलोचाना भी सहनी पड़ी है।

नरेंद्र मोदी सरकार लोगों को अच्छा लगे ऐसे काम करने की बजाय, लोगों के लिए जो अच्छा हो ऐसे काम करने में यकीन रखती है। …नोटबंदी इसका सबसे बड़ा उदाहरण है।”

उन्होंने कहा कि सरकार नीतिगत निर्णयों को वोट बैंक से नहीं जोड़ती है। सरकार ने ऐसे फैसले किये हैं जो देश की अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने के लिए जरूरी हों। उन्होंने कहा “यह सभी को स्वीकार करना होगा कि नोटबंदी से औपचारिक अर्थव्यवस्था का आकार बढ़ा है।”

श्री शाह ने  कहा कि नोटबंदी से सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की विकास दर बढ़ी है। मोदी सरकार के सत्ता सँभालते समय विकास दर 4.7 प्रतिशत थी जो अब 7.1 प्रतिशत पर पहुँच गयी है। हालाँकि, उन्होंने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के 31 अगस्त को जारी कमजोर आँकड़ों को इससे अलग रखते हुये कहा “पिछली तिमाही को छोड़ दीजिये। तकनीकी कारणों से इसमें विकास दर कम रही है।”

भाजपा अध्यक्ष ने पिछली सरकार को निशाना बनाते हुये कहा कि उसने मॉरिशस, सिंगापुर और साइप्रस से कालाधन अनैतिक तरीके से भारत लाने के लिए कुछ रास्ते बनाये थे। मौजूदा सरकार ने इन देशों को समझौतों को समय से पहले समाप्त करके उन अनैतिक रास्तों को बंद करने का काम किया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.