थोक महंगाई दर नवंबर में घटकर 4.64 फीसदी

नई दिल्ली: खाद्य व तेल की कीमतों में कमी की वजह से थोक मूल्य पर आधारित देश की सलाना महंगाई दर नवंबर में घटकर 4.64 फीसदी रही है। यह अक्टूबर में 5.28 फीसदी थी।केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, साल-दर-साल आधार पर थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) के आंकड़े में वृद्धि दर्ज की गई है, जो कि साल 2017 के इसी महीने में 4.02 फीसदी थी।

मंत्रालय ने नवंबर के लिए ‘भारत की थोक मूल्य सूचकांक संख्या’ की समीक्षा में कहा, ”मासिक डब्ल्यूपीआई पर आधारित सालाना मुद्रास्फीति दर (अनंतिम) नवंबर में (साल 2017 के अक्टूबर की तुलना में) 4.64 फीसदी रही, जबकि इसके पिछले महीने यह 5.28 फीसदी (अनंतिम) और पिछले साल के नवंबर में 4.02 फीसदी रही थी।” वाणिज्य मंत्रालय के आधिकारिक बयान में कहा गया है, ”चालू वित्त वर्ष में अबतक बिल्ड अप मुद्रास्फीति दर 4.73 फीसदी रही है, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 2.83 फीसदी थी।” क्रमिक आधार पर, प्राथमिक वस्तुओं पर खर्च 0.88 फीसदी घटा है, जिसका डब्ल्यूपीआई में 22.62 फीसदी भार है। यह अक्टूबर में 1.79 फीसदी पर था।

इसी प्रकार खाद्य पदार्थो की कीमतें गिरी हैं। इस श्रेणी का डब्ल्यूपीआई सूचकांक में भार 15.26 फीसदी है।
इसके अतिरिक्त ईंधन और बिजली खंड, जिसका सूचकांक में भार 13.15 फीसदी है, में नवंबर में 16.28 फीसदी वृद्धि दर रही है। विनिर्मित उत्पादों के खर्च में 4.21 फीसदी की तेजी दर्ज की गई है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.