लापता सऊदी पत्रकार मामले के संदिग्धों का संबंध क्राउन प्रिंस से : रपट

वाशिंगटन: सऊदी पत्रकार जमाल खाशोगी के लापता होने के मामले में तुर्की द्वारा पहचाने गए संदिग्धों में से एक का संबंध क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान से है।न्यूयार्क टाइम्स की मंगलवार की एक रपट के अनुसार, तीन अन्य संदिग्ध प्रिंस के सुरक्षा मामलों से जुड़े हुए हैं और पांचवा संदिग्ध फोरेंसिक डॉक्टर है, जो सऊदी गृह मंत्रालय और मेडिकल प्रतिष्ठान में एक बड़े पद पर है।रपट के अनुसार, ब्रिटिश कूटनीतिक रोस्टर के मुताबिक, एक संदिग्ध महर अब्दुलअजीज मुतरेब को 2007 में लंदन स्थित सऊदी दूतावास में राजदूत नियुक्त किया गया था। उसने क्राउन प्रिंस के साथ काफी यात्राएं की हैं।

टाइम्स के अनुसार, तीन अन्य संदिग्ध अब्दुलअजीज मोहम्मद अल हवसावी, थार घलेब अल-हरबी और मुहम्मद साद अलझारनी हैं। हवसावी सुरक्षा टीम का सदस्य है, जिसने क्राउन प्रिंस के साथ यात्राएं की हैं।टाइम्स के अनुसार, अल-हराबी और अलझारनी की पहचान सऊदी रॉयल गार्ड के रूप में की गई है।पांचवा संदिग्ध सलाह अल तुबेगी एक पोस्टमार्टम विशेषज्ञ है, जिसने ट्वीटर पर खुद की पहचान सऊदी साइंटिफिक काउंसिल ऑफ फोरेंसिक के प्रमुख के रूप में बताई है।

यह रपट राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उन दावों पर सवाल उठाती है, जिसमें उन्होंने कहा था कि इस हत्या को ‘दुष्ट हत्यारों’ ने अंजाम दिया है। वह इस हत्या में वाशिंगटन के मध्य पूर्व में मुख्य सहयोगी सऊदी अरब पर ऊंगली उठाने से परहेज कर रहे हैं।ट्रंप ने कहा कि रियाद के साथ ‘निर्दोष साबित होने से पहले ही दोषी’ जैसा व्यवहार किया जा रहा है। उन्होंने साथ ही कहा कि क्राउन पिं्रस मोहम्मद बिन सलमान ने खाशोगी के बारे में किसी भी जानकारी से इंकार किया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.