पुतिन से वार्ता से द्विपक्षीय संबंध और मजबूत होंगे : मोदी

सोचि (रूस): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनौपचारिक सम्मेलन में शिरकत करने के लिए सोमवार को रूस पहुंच गए। इस दौरान वह रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अनौपचारिक वार्ता करेंगे। मोदी का यह रूस दौरा नौ घंटे का है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, ”सब कुछ 9 घंटों में। उच्चस्तरीय यात्राओं के तहत प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति पुतिन के साथ अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए सोची पहुंचे।” रवीश कुमार ने कहा, ”दोनों नेता प्रतिनिधिमंडल के साथ मुलाकात करेंगे। इसके बाद बोचेरेव क्रीक में दोपहर का भोजन करेंगे और वार्ता के साथ इस दौरे की समाप्ति होगी।

”नई दिल्ली से रविवार को रवानगी से पहले मोदी ने कहा कि उनकी पुतिन से वार्ता द्विपक्षीय संबंधों को मजबू करने में मदद मिलेगी।मोदी ने कहा, ”मुझे विश्वास है कि राष्ट्रपति पुतिन के साथ वार्ता भारत व रूस के बीच विशेष रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करेगी।” मोदी की यह यात्रा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और विदेश सचिव विजय गोखले की इस महीने की शुरुआत में रूस दौरे के बाद हो रही है।

रोसोबोरोनएक्सपोर्ट सहित रूसी कंपनियों के खिलाफ प्रतिबंध से भारत में चिंता बढ़ी है क्योंकि इससे रूस से भारत की सैन्य खरीद पर संभावित असर पड़ा है। रोसोबोरोनएक्सपोर्ट सरकारी रूसी हथियार ट्रेडिंग कंपनी है।
विदेश मंत्रालय ने कहा कि मोदी की रूस यात्रा उनके व पुतिन के अंतर्राष्ट्रीय मामलों पर विचार-विमर्श के लिए विशेष अवसर है और दीर्घकालिक परिपेक्ष्य में यह विशेष रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करेगी।पुतिन के इस साल के अंत में भारत में वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन में भाग लेने की उम्मीद है।रूस व जापान सिर्फ दो देश हैं जिनके साथ भारत वार्षिक शिखर सम्मेलन आयोजित करता है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.