उत्तर कोरिया ने अमेरिकी सम्मेलन में शामिल नहीं होने की धमकी दी

प्योंगयांग: उत्तर कोरिया की उपविदेश मंत्री ने गुरुवार को कहा कि यदि अमेरिका अपनी अनैतिक और अपमानजनक गतिविधियों में संलिप्त रहा तो वह वॉशिंगटन के साथ द्विपक्षीय बैठक पर दोबारा विचार करेगा।समाचार एजेंसी योनहाप के मुताबिक, उत्तर कोरिया की सरकारी समाचार एजेंसी कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) द्वारा जारी बयान में उपविदेश मंत्री चो सून हुई ने कहा कि 12 जून को किम जोंग उन और ट्रंप के बीच होने वाली बैठक वॉशिंगटन के रुख पर निर्भर करेगी।

चो ने कहा, ”अमेरिका हमसे बैठक कक्ष में मिलेगा या परमाणु मुकाबला करेगा, यह पूरी तरह से अमेरिका के रुख पर निर्भर करेगा।” उन्होंने कहा, ”यदि अमेरिका हमारी सद्भावना का अपमान करता है और अपने अनैतिक और अपमानजक कृत्यों से जुड़ा रहता है तो मैं अपने सर्वोच्च नेता के समक्ष इस सम्मलेन पर दोबारा विचार करने का सुझाव रखूंगी।” दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन और ट्रंप की मंगलवार को वॉशिंगटन में मुलाकात के बाद उत्तर कोरिया की ओर से यह धमकी आई है।

उत्तर कोरिया ने अमेरिका द्वारा एकतरफा परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए बाध्य करने की आलोचना की है।
ट्रंप प्रशासन अपने रुख पर कायम है कि वह उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रमों का पूर्ण विखंडन चाहता है और यह प्रक्रिया पूरी होने तक उसे (प्योंगयांग) किसी तरह की रियायत नहीं दी जाएगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.