पाकिस्तानी रेंजर्स की नीचता , घायल बीएसएफ जवान के साथ की बर्बरता

जम्मू: भारतीय सैनिकों के साथ पाकिस्तान की सेना की बर्बरता का एक और उदाहरण 18 सितंबर को सामने आया। जब पाकिस्तानी सेना ने बैट टीम के साथ मिलकर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) सिपाही नरेंद्र सिंह के साथ पहले बर्बरता की फिर उनका गला रेत दिया। वह पाकिस्तान द्वारा की गई फायरिंग और बैट के हमले में घायल हो गए थे। क्षत-विक्षत हालत में उनका शव बरामद हुआ था। पांच साल पहले बर्बरता से पाकिस्तानी सेना ने बैट टीम के साथ मिलकर सिपाही हेमराज का सिर काट दिया था।

बीएसएफ जवान के साथ हुई बर्बरता पर कांग्रेस ने सरकार को घेरा है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पूछा है कि आखिर 56 इंच का सीना कहां गया। सुरजेवाला ने कहा, पहले हेमराज और अब नरेंद्र सिंह। पाकिस्तान ने बड़ी बर्बरता से उन्हें मार दिया। सरकार क्या कर रही है? मोदी जी क्या आपकी आत्मा आपको नहीं धिक्कारती?

सुरजेवाला ने आगे कहा, कहां गया 56 इंच का सीना और कहां गई लाल आंख? कहां गया एक के बदले दस सर लाने का वादा? सरकार भ्रष्टाचार को लेकर चिंतित है लेकिन जवानों को लेकर नहीं। मोदी जी ने भारतीय सेना को अपने राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल किया लेकिन उनकी सुरक्षा के बारे में कुछ नहीं सोचा। देश आपसे जवाब चाहता है और आपको जवाब देना पड़ेगा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी इस मामले को लेकर मोदी सरकार पर हमला किया है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, प्रधान मंत्री जी जवाब दें कि आखिर कब तक भारत के सैनिकों पर अत्याचार जारी रहेगा? कब तक भारत पाकिस्तान के सामने बेबस रहेगा? आखिर क्या मजबूरियां हैं प्रधान मंत्री जी की?

बता दें कि 179 बीएसएफ की बटालियन में तैनात नरेंद्र सिंह बार्डर पर मंगलवार की सुबह अपने साथी जवानों के साथ सरकंडों की सफाई करने गए थे। ताकि झाड़ियों और सरकंडे का सहारा लेकर आतंकी घुसपैठ न कर सकें। इसी दौरान पाकिस्तान रेंजर्स ने सैन्य चौकियों को निशाना बनाते हुए फायरिंग कर दी थी। पाकिस्तान द्वारा की गई फायरिंग व बैट के हमले में नरेंद्र सिंह घायल हुए थे। इसके बाद वह अचानक गायब हो गए थे।

शाम को नरेंद्र सिंह का शव क्षत-विक्षत मिला था। उन्हें दो गोली लगी हुई थी और शरीर से बर्बरता की गई थी। नरेंद्र के परिवार के सदस्य ने बताया कि उनके शव से बर्बरता करने के साथ ही आंख भी फोड़ी गई हैं। उनके पैर व सीने में गोली है। उनके गांव के लोगों का कहना है कि उन्हें नरेंद्र की शहादत पर गर्व है लेकिन उनके शव के साथ बर्बरता कर पाकिस्तान ने घिनौनी हरकत की है। जिसका मुंह तोड़ जवाब दिया जाना चाहिए।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.