रांची पुलिस की ‘शक्ति’ नहीं आई काम, एंटी रोमियो दस्ता भी हुआ फ्लॉप

रांची: झारखंड पुलिस की महत्वकांक्षी शक्ति ऐप महज ट्रायल के लिए है। इसे अबतक 10 हजार से अधिक लोगों ने डाउनलोड कर लिया है। लेकिन एक भी मामले का प्रत्यक्ष रूप से निष्पादन नहीं हो सका है। इसका ट्रायल अभी भी जारी है।
शक्ति ऐप का इस्तेमाल मुसीबतों के लिए नहीं, बल्कि ट्रायल के लिए किया जा रहा है। इसकी शुरुआत हुए लगभग ढाई वर्ष बीत चुके हैं। ट्रायल करने के आंकड़े पर गौर किया जाए तो यह तीन हजार के पार है। इस ऐप की शुरुआत बीते पांच नवंबर 2015 को सीएम ने जैप ग्राउंड में पुलिस ड्यूटी मीट के दौरान की थी।

नहीं बढ़ सकी  ऐप की  विश्वसनियता

इस ऐप के लिए कई शैक्षणिक संस्थानों में जागरुकता और प्रशिक्षण शिविर लगे, लेकिन इससे ऐप की न तो विश्वसनियता बढ़ी और न ही इसका व्यापक प्रचार हुआ। शक्ति ऐप की लांचिंग के बाद इसके लिए अलग सेल बनी। पुलिस विभाग के जवानों को प्रशिक्षित कर प्रतिनियुक्ति भी की गई। लेकिन यह ऐप अब भी डायल 100 से लिंक होकर काम कर रहा है। आकस्मिक सेवा के रूप में इसका इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है।

एंटी रोमियों दस्ता फ्लॉप 
यूपी में एंटी रोमियो दस्ते की धूम के बाद रांची समेत पूरे राज्य में एंटी रोमियो दस्ता बनाया गया। इसमें महिला दारोगा, जमादार, सिपाही समेत अन्य पुलिसकर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई। कुछ दिनों तक मनचलों के खिलाफ जबरदस्त कार्रवाई हुई, लेकिन यह दस्ता और योजना कुछ दिनों के बाद फ्लॉप हो गया। फिर मनचले दोबारा सक्रिय हो गए।

स्कूल-कॉलेजों में घटित घटनाओं पर एक नजर
10 अगस्त 2017 को कोकर के क्लूनी कांवेंट स्कूल से छात्रा को अगवा की कोशिश की गई। हालांकि तीन में एक बालिग और दो नाबालिगों को पुलिस ने पकड़ लिया था। इसके बाद भी सिरफिरे युवक ने छात्रा को गोली मारने की धमकी दी थी।

  •  27 अप्रैल 2011 को संत जेवियर कॉलेज में इंटर की परीक्षा देने पहुंची तुपुदाना क्षेत्र के रवींद्र नाथ टैगोर इंटर कॉलेज की छात्रा खुशबू की हत्या कर दी थी।
  • 31 जनवरी 2017 को संत जेवियर कॉलेज परिसर में घुसकर एख छात्रा पर हमला कर दिया। हालांकि वहां मौजूद युवकों ने आरोपी की पकड़ कर धुनाई कर दी थी।
  • 16 नवंबर 2016 को खलारी में एक सिरफिरे युवक ने ऑटो से स्कूल जा रही नाबालिग छात्रा को रोककर सरेआम पीट-पीटकर घायल कर दिया। इसके बाद गैंगरेप की धमकी दी थी। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।
  • 24 जुलाई 2015 को गोस्सनर कॉलेज में एक छात्रा से छेडख़ानी कर दी थी। इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने युवक को पकड़कर जमकर पीटा था। इसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.