आलोचकों को शांत करना चाहती हैं साक्षी

नई दिल्ली: प्रो रेसलिंग लीग (पीडब्ल्यूएल) के चौथे सीजन में नवजोत कौर के खिलाफ जीत हासिल करने के बाद रियो ओलम्पिक की कांस्य पदक विजेता साक्षी मलिक की कोशिश हर टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन कर अपने आलोचकों को शांत करने की है। साक्षी ने आईएएनएस से कहा, ”बीते कुछ मुकाबले जो मैंने हारे हैं वह काफी करीबी थे। हर बार, यह कुछ सेकेंड्स की बात होती है। अगर मैं कुछ और सेकेंड्स अपनी पकड़ बनाए रहती तो नतीजा कुछ और हो सकता था।” साक्षी ने बीते साल पहली बार एशियाई खेलों में शिरकत की थी और वह कांस्य पदक के मुकाबले में मात खा बैठी थीं। उन्हें दक्षिण कोरिया की हांग जुंगवोन ने मात दी थी। इससे पहले आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भी उनसे काफी उम्मीद थीं लेकिन वह सिर्फ कांस्य पदक तक ही सीमित रह गई थीं।

पीडब्ल्यूएल ने साक्षी के करियर में अहम रोल निभाया है। साक्षी इस सीजन हर टूर्नामेंट में अपने आप को साबित करने के लिए तैयार हैं।साक्षी ने कहा, ”पहले सीजन से ही पीडब्ल्यूएल ने मुझे विश्व के दिग्गज पहलवानों के खिलाफ लड़ने का मौका दिया है जिससे मुझे बड़े टूर्नामेंट में अपने खेल को बेहतर करने में मदद की है। इससे पहले हमें विदेशी पहलवानों से लड़ने का मौका तब ही मिलता था जब हम विदेश जाते थे, लेकिन जब से पीडब्ल्यूएल आया है हमें न सिर्फ उनके खिलाफ लड़ने का मौका मिलता है बल्कि उनके साथ ट्रेनिंग करने का भी फायदा होता है।” उन्होंने कहा, ”मैं इससे पहले के सीजनों में यूक्रेन की ओकसाना हेरहेल से मात खा बैठी हूं लेकिन मैंने उनसे मिली हार से सीखा।

” टोक्यो ओलम्पिक में अपने पदक जीतने की संभावना पर साक्षी ने कहा, ”एक और ओलम्पिक पदक जीतना मेरा सपना है और मैं इस पर पूरी तरह से अपना ध्यान लगाए हूं, लेकिन इससे पहले, विश्व चैम्पियनशिप भी है जहां मुझे टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई करने के लिए अच्छा प्रदर्शन करना होगा। मैं अपनी फिटनेस और ट्रेनिंग से काफी खुश हूं और मुझे विश्वास है कि मैं टोक्यो में अगले साल अपने सपने को सच करुंगी।”

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.