वेलिंग्टन वनडे : जीत के साथ सीरीज का अंत करना चाहेंगी भारत-न्यूजीलैंड

वेलिंग्टन: भारत ने पांच मैचों की वनडे सीरीज के शुरुआती तीन मैचों में एकतरफा प्रदर्शन किया, लेकिन हेमिल्टन में खेले गए चौथे वनडे में उसे एकतरफा हार भी मिली। न्यूजीलैंड ने चौथे वनडे में भारत को 92 रनों पर आउट कर दिया था और आठ विकेट से जीत हासिल कर ली थी। सीरीज के पांचवें और आखिरी मैच में भारत और न्यूजीलैंड रविवार को वैस्टपेक स्टेडियम में आमने-सामने होंगी। भारत एक बार फिर विजयी रास्ते पर लौटना चाहेगा तो वहीं किवी टीम एक और जीत हासिल कर सीरीज का विजयी अंत चाहेगी। न्यूजीलैंड चौथे वनडे में जीत बाद आत्मविश्वास से लबरेज है और अब वह आखिरी मैच जीत सीरीज का विजयी अंत कर टी-20 सीरीज में बदली हुई मानसिकता के साथ जाना चाहेगी।

हेमिल्टन में भारतीय बल्लेबाज विकेट से मिल रही स्विंग के सामने नतमस्तक दिखे थे और लगातार विकेट खोते रहे थे। ट्रैंट बाउल्ट और कोलिन डी ग्रांडहोम के सामने भारतीय बल्लेबाज रन नहीं बना सके थे।वेलिंग्टन में भी स्विंग देखने को मिल सकती है और ऐसे भारतीय बल्लेबाजों को सतर्क रहने की जरूरत है। मैदान का इतिहास भी भारत के पक्ष में नहीं है, क्योंकि मेहमान टीम ने 16 साल पहले यहां जीत हासिल की थी, लेकिन उसके बाद इस मैदान पर जीत उससे दूर ही रही है। भारत ने यहां सिर्फ एक वनडे जीता है। 2003 में भारत ने इस मैदान पर अपनी इकलौती जीत हासिल की थी। भारत को वह जीत सौरभ गांगुली की कप्तानी में मिली थी। भारत ने इस मैदान पर अब तक कुल तीन वनडे मैच खेले हैं, जिसमें एक में उसे जीत, एक में हार मिली है जबकि एक मैच का कोई परिणाम नहीं निकला सका था।

चौथे मैच में भारत के स्टार बल्लेबाज और नियमित कप्तान विराट कोहली नहीं खेले थे। न ही महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर उतरे थे। इन दोनों की कमी चौथे मैच में बेशक टीम को खली थी। कोहली इस मैच में भी नहीं खेलेंगे। उन्हें वनडे सीरीज के आखिरी दो मैचों और टी-20 सीरीज से आराम दिया दिया गया है। ऐसे में रोहित को बल्लेबाजी में जिम्मेदारी लेनी होगी। वहीं शिखर धवन को भी उनका साथ देना होगा। टीम में बदलाव की संभावना कम है। यह मैच युवा बल्लेबाज शुभमन गिल के लिए अपने आप को साबित करने का एक और अच्छा मौका होगा। धोनी की चोट की स्थिति साफ नहीं है। उनके खेलने पर संशय बना हुआ है। अगर वह टीम में नहीं रहते हैं तो मध्य क्रम का भार अंबाती रायडू, केदार जाधव और दिनेश कार्तिक के कंधों पर होगा।

इस मैदान का एक और आंकड़ा भारत के लिए चिंता का सबब हो सकता है। वेस्टपैक मैदान पर आज तक किसी भारतीय बल्लेबाज ने वनडे में शतक नहीं लगाया है। इस मैदान पर वीरेंद्र सहवाग सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज हैं। उन्होंने यहां 99 रनों की पारी खेली थी।वहीं गेंदबाजी में भारत एक बदलाव कर सकता है। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद के स्थान पर मोहम्मद सिराज या मोहम्मद शमी की वापसी हो सकती है। भुवनेश्वर कुमार, हार्दिक पांड्या, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल का खेलना तय माना जा रहा है। वहीं न्यूजीलैंड की बात की जाए तो पिछले मैच में मिली जीत ने उसे विश्वास दिया होगा कि वह भारत को मात देने में सक्षम है। बाउल्ट और डी ग्रांडहोम ने गेंद से बेहतरीन प्रदर्शन किया था। इन दोनों के अलावा टीम प्रबंधन चाहेगा कि बाकी के गेंदबाज भी फॉर्म में वापसी करें।

वहीं बल्लेबाजी में मार्टिन गुप्टिल का खेलना संदिग्ध है। उनको पीठ के निचले हिस्से में चोट लगी है। वह कल मैदान उतरेंगे इसका फैसला मैच के दिन ही होगा। टीम फिजियो मैच से पहले उनकी चोट की जांच करेंगे, इसके बाद ही उनके खेलने पर फैसला लिया जाएगाी। गुप्टिल के स्थान पर कोलिन मुनरो को मौका मिल सकता है। कप्तान केन विलियम्सन भी चौथे मैच में जल्दी लौट लिए थे। बल्लेबाजी किवी टीम के लिए चिंता का सबब होगी। रॉस टेलर हालांकि अच्छा खेल रहे हैं और उन्हीं के दम पर टीम की बल्लेबाजी का भार होगा। उनके अलावा टॉम लाथम भी बड़ी भूमिका में होंगे।
टीमें (संभावित) :
भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, अंबाती रायडू, शिखर धवन, दिनेश कार्तिक, शुभमन गिल, विजय शंकर, हार्दिक पांड्या, खलील अहमद, युजवेंद्र चहल, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज।
न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), ट्रैंट बाउल्ट, जेम्स नीशम, कोलिन डी ग्रांडहोम, लॉकी फर्ग्यूसन, मार्टिन गुप्टिल, मैट हेनरी, टॉम लाथम (विकेटकीपर), कोलिन मुनरो, हेनरी निकोलस, मिशेल सैंटनर, टॉड एस्ले, टिम साउदी, रॉस टेलर।

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.