मोदी ने अंबेडकर का अनादर करने के लिए कांग्रेस की निंदा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर का ‘अनादर’ करने को लेकर कांग्रेस पर हमला किया और संसद में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आयोग को संवैधानिक दर्जा दिए जाने से रोकने का आरोप लगाया।नरेंद्र मोदी मोबाइल एप के जरिए कर्नाटक भाजपा के अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी), ओबीसी व स्लम मोर्चा से बातचीत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के दिल में दलितों के लिए कोई जगह नहीं है।

मोदी ने कहा कि आप एक ऐसा काम बताइए, जो कांग्रेस ने दलित समुदाय की भलाई के लिए किया हो।
उन्होंने कहा,”कांग्रेस के दिल में दलितों के लिए कोई जगह नहीं है। यह सिलसिला बीते कई दशकों से जारी है। यहां तक कि कांग्रेस अंबेडकर का भी सम्मान नहीं करती। उन्होंने अंबेडकर को 1952 के आम चुनावों व 1953 के भंडारा संसदीय क्षेत्र के उपचुनावों में हराने के लिए सब कुछ किया।” उन्होंने कहा कि कांग्रेस जब तक सत्ता में रही अंबेडकर का अपमान किया।

उन्होंने कहा, ”कांग्रेस ने उन्हें भारत रत्न भी नहीं दिया। यह अटल बिहारी वाजपेयी जी की सरकार थी जिसने बाबासाहेब को यह उपाधि दी।” उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अंबेडकर के पंचतीर्थ को विकसित करने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा, ”सभी महान संतों से प्रेरणा लेकर आज हम बाबासाहेब के शक्तिशाली व समृद्ध राष्ट्र के सपने को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं।” ओबीसी आयोग को संसद में संवैधानिक दर्जा नहीं दिए जाने को लेकर कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि वे सिर्फ वोट बैंक की राजनीति में शामिल हैं और कभी कमजोर तबके के सशक्तीकरण पर ध्यान नहीं दिया।

उन्होंने कहा, ”आप को यह जानकर हैरानी होगी कि कांग्रेस के शासन में ओबीसी नेता अक्सर ओबीसी आयोग के संवैधानिक दर्जे की मांग करते थे, लेकिन कांग्रेस ने कभी ध्यान नहीं दिया। वे सिर्फ वोट बैंक की राजनीति में शामिल रहे। ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिए जाने से रोककर उन्होंने संसद को कार्य नहीं करने दिया।” प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भाजपा में एससी, एसटी, ओबीसी व अल्पसंख्यक समुदाय से सबसे ज्यादा सांसद है।

मोदी ने कहा कि विभिन्न मोर्चा के नेताओं के लोगों से सीधे जुड़ने व पार्टी का संपर्क बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने मोर्चा नेताओं से पार्टी के पहल को गरीब तबके तक पहुंचाने का आग्रह किया।
अंबेडकर, समाज सुधारक ज्योतिबा फुले, संत कबीर व रविदास के समाजिक अन्याय के खिलाफ लड़ाई में योगदान का आह्वान करते हुए मोदी ने कहा कि उनके प्रयास प्रेरणादायक हैं और उनकी सरकार को रास्ता दिखाने का काम किया है।

मोदी ने बातचीत के दौरान भाजपा नेताओं के सवालों के जवाब दिए और विभिन्न कल्याणकारी उपायों का जिक्र किया।भाजपा की अगुवाई वाली राजग सरकार की कई परियोजनाओं की जानकारी देते हुए मोदी ने कहा कि 2015 में सरकार ने एससी/एसटी (अत्याचार रोकथाम) अधिनियम को मजबूत किया।
उन्होंने कहा कि ‘स्टैंड अप’ व ‘मुद्रा योजना’ एससी/एसटी, ओबीसी व महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने में मदद कर रही हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.