8 राज्यों में आंधी-बारिश का कहरः 94 की गई जान, यूपी-राजस्थान में सबसे ज्यादा मौतें

जयपुर: भरतपुर जिले में आए तेज आंधी और तूफान के चलते 9 लोगों की मौत हो गई, जबकि दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हुए। घायलों को अरबी में जिला अस्पताल सहित नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। भरतपुर शहर सहित जिले भर में कई जगह बिजली के पोल धराशाही हो गए हैं, वहीं कई पेड़ भी जमीन गिरे हुए हैं। इसी प्रकार पूरे जिले भर में विद्युत आपूर्ति ठप हो गई है। 2 दर्जन से अधिक लोग आंधी-तूफान की चपेट में आने से घायल हुए हैं। भरतपुर जिले में कुल 9 लोगों की मौत हुई है और 50 से अधिक घायल हुए है। डीग में 5, भरतपुर में 2, नगर में 1 और सीकरी में 1 की मौत हुई है।

एडीएम ओपी जैन ने अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल लिया। भरतपुर शहर सहित पूरे जिले भर में दीवार-मकान और आकाशीय बिजली गिरने और मकान की छत टूटने से 2 दर्जन से अधिक लोग घायल हुए है, जिन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना मिलने पर एस .डी .एम  पुष्कर मित्तल अस्पताल पहुंचे और घटना की जानकारी ली। घटना के मद्देनजर पुलिस को अलर्ट पर रखा गया है। अस्पताल में मरीजों की भीड़ को देखते हुए जिला चिकित्सालय डॉक्टरों की एडिशनल टीम तैनात की गई है। तूफान की रफ्तार इतनी तेज थी कि जो भी उसके रास्ते में आया उसको उसने जमींदोज कर दिया। आंधी के दौरान हवा की रफ्तार करीब 100 किलो मीटर से अधिक बताई जा रही है।

झुंझुनूं के खेतड़ी थाना इलाके के रवां गांव में तेज आंधी के कारण एक निर्माणाधीन मकान धराशायी हो गया। जिसमें मजदूर-मिस्त्री व एक युवती समेत छह जने दब ग, जबकि मकान बनवा रहे मालिक की इलाज के दौरान मौत हो गई। घटना के बाद ग्रामीणों ने ही अपने स्तर पर सभी घायलों को मलबे से निकालकर अस्पताल के लिए रवाना किया। इनमें से पांच घायल सिंघाना के निजी अस्पताल तथा दो घायल कॉपर के केसीसी अस्पताल पहुंचे। जहां से दो घायलों को जयपुर रैफर किया गया है।

जानकारी के मुताबिक कॉपर से रिटायर महावीर गांव में ही अपना मकान बनवा रहा था। अचानक आई तेज आंधी के कारण मकान ढह गया। मकान गिरने पर हरियाणा के सराय निवासी मजदूर और मिस्त्री रमेश व प्रदीप के अलावा मकान मालिक महावीर, रामजीलाल, जयसिंह, शैतानसिंह व पड़ौस की युवती सोनू भी मलबे में दब गए। इन सात घायलों में से पांच को सिंघाना के निजी अस्पताल लाया गया। जबकि जहां से महावीर और रामजीलाल को जयपुर रैफर किया गया। बीच में घायलों को केसीसी अस्पताल भी ले जाया गया। जहां पर महावीर ने केसीसी अस्पताल में ही दम तोड़ दिया। जबकि रामजीलाल को जयपुर ले जाया गया। वहीं जयसिंह व शैतानसिंह का कॉपर अस्पताल में इलाज चल रहा है। घटना के बाद तहसीलदार बंशीधर भी अस्पताल पहुंचे और घायलों की कुशलक्षेम पूछी।

अलवर जिले में आये तेज आंधी ओर तूफान से दो लोगो की मौत हो गई। वही बहरोड़ में टीन लगने से एक बच्ची के मौत की भी खबर है। शहर में हजारों की संख्या में पेड़ धराशायी हो गए और सैकड़ों जगह पर बिजली के पोल ओर बिजली के तार टूट गए, जिसकी वजह से जिले में बिजली गुल है। पुरानी सब्जी मंडी में पेड़ गिरने एक व्यक्ति 25 वर्षीय राकेश जांगिड़ जो कि बरखेड़ा के रहने वाले थे, की मौत हो गई। जबकि 20 लोग घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए राजीव गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अलवर में आए तेज अंधड़ से एक कार पर गिरे पेड़ से कार में सवार एक जन की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल हो गए। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को कार का शीशा तोड़कर बाहर निकाला और जेसीबी बुलाकर करीब आधे घंटे बाद अलवर-रामगढ़ मार्ग यातायात को दुरुस्त किया। उद्योग नगर थाने के एएसआई मान सिंह ने बताया कि हिंडौन सिटी के रहने वाले तीन लोग रामगढ़ से मूर्ति खरीदकर हिंडौन सिटी जा रहे थे। रास्ते में बगड़ तिराये के पास सुधासागर गौशाला के पास तेज अंधड़ से एक पेड़ उनके कार पर गिर गया जिस से हिंडौन सिटी निवासी 45 वर्षीय मुकेश अग्रवाल पुत्र रामेश्वरदयाल अग्रवाल की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि दो अन्य को कार का शीशा तोड़कर बाहर निकाला गया।

पुलिस ने बताया कि इस संबंध में एंबुलेंस को कई बार फोन किए गए, लेकिन कोई भी एंबुलेंस मौके पर नहीं पहुंची। एंबुलेंस के लिए जयपुर भी फोन किया, लेकिन एंबुलेंस नहीं आने के कारण कार में फंसे घायल लोगों को अलवर अस्पताल लाने में दिक्कत उठानी पड़ी। बहरोड़ में 13 साल की बच्ची मुस्कान की टीन लगने से मौत हो गयी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.