साल 2018 की उपलब्धियां सभी को गौरव से भर देंगी : मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि ‘उनकी सरकार की 2018 की उपलब्धियां हर किसी को गौरव से भर देंगी’ और ‘उम्मीद जताई की विकास की यात्रा 2019 में भी जारी रहेगी।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि देश ने गरीबी उन्मूलन के क्षेत्र में रिकॉर्ड गति के साथ प्रगति की है। उन्होंने कहा कि व्यापार करने में सहजता की रैकिंग में भी बेजोड़ सुधार हुआ है और उल्लेख किया कि विश्व की संस्थाओं ने भारत की प्रगति को स्वीकार किया है। साल 2018 के आखिरी ‘मन की बात’ कार्यक्रम में मोदी ने साल भर के आर्थिक, सामाजिक क्षेत्र, सौर ऊर्जा, जलवायु परिवर्तन, खेल व अन्य क्षेत्रों की उपलब्धियों का सारांश पेश किया। उन्होंने कहा कि ऐसा लोगों के सामूहिक प्रयास की वजह से हो सका है।यह मोदी के मासिक रेडियो कार्यक्रम का 51वां संस्करण था।

मोदी ने कहा, ”चाहे यह किसी एक का जीवन हो या राष्ट्र का जीवन, हमें पीछे देखने की सलाह दी जाती है और आगे देखने की भी…जिससे कि हम अपनी गलतियों से सबक सीख सकें और आगे बढ़ने का आत्मविश्वास प्राप्त करें। आप सभी सोच रहे होंगे कि 2018 को कैसे याद रखा जाए। साल 2018 सभी को गौरव से भर देगा।” सरकार की 2018 की उपलब्धियों को सूचीबद्ध करते हुए उन्होंने कहा, ”2018 में, विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना ‘आयुष्मान भारत’ की शुरुआत हुई। देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले, सरदार वल्लभभाई पटेल के सम्मान में विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ देश को मिली। देश के हर गांव तक बिजली पहुंच गई। भारत में व्यापार करने में सुगमता में उल्लेखनीय सुधार हुआ।

आजादी के बाद लाल-किले से पहली बार, आजाद हिंद सरकार की 75वीं वर्षगांठ पर तिरंगा फहराया गया। देश को संयुक्त राष्ट्र के सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार ‘चैंपियंस ऑफ द अर्थ’ से सम्मानित किया गया।” मोदी ने कहा कि देश की आत्मरक्षा प्रणाली को नई मजबूती मिली है। इसी वर्ष हमारे देश ने सफलतापूर्वक ‘न्यूक्लियर ट्रायड’ को पूरा किया है, यानी अब हम जल, थल और नभ-तीनों में परमाणुशक्ति संपन्न हो गए हैं।मोदी ने कहा कि स्वच्छ भारत योजना व स्वच्छता कवरेज तेजी से 95 फीसदी के चिन्ह को पार कर रही है और इसकी सफलता का श्रेय लोगों को दिया।उन्होंने वाराणसी में गंगा नदी पर भारत के पहले बहुआयामी टर्मिनल व सिक्किम के पहले हवाईअड्डे के उद्घाटन की भी बात की।प्रधानमंत्री ने यह भी उल्लेख किया कि भारत ने एशियाई खेलों में बड़ी संख्या में पदक जीते और पैरा एशियाई खेलों व क्रिकेट में भी बेहतर प्रदर्शन किया।

अनंतनाग की 12 साल की हनाया का उदाहरण देते हुए मोदी ने कहा, ”हर समाज में खेल-कूद का अपना महत्व होता है। अगर एक व्यक्ति का संकल्प मजबूत व उत्साह सीमा से परे है तो उसके मार्ग में आने वाली सभी बाधाएं रुक जाती हैं और कठिनाइयां कभी बाधा नहीं बन सकतीं।” उन्होंने कहा कि कश्मीर की 12 साल की बेटी हनाया निसार ने कोरिया में कराटे चैंपियनशिप जीती है। हरियाणा की रजनी ने जूनियर महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक व पुणे की वेदांगी कुलकर्णी साइकिल से दुनिया का चक्कर लगाने वाली सबसे तेज एशियाई बन गईं हैं।उन्होंने कहा, ”मुझे उम्मीद है कि सफलता का दौर 2019 में भी जारी रहेगा।” प्रधानमंत्री ने कुंभ मेला की परंपरा व 26 जनवरी के गणतंत्र दिवस समारोह के बारे में भी बातें की।

उन्होंने कहा, ”विश्व प्रसिद्ध कुंभ मेला आत्म खोज का एक बड़ा माध्यम है, जहां आने वाले हर व्यक्ति की अलग-अलग अनुभूति होती है। सांसारिक चीजों को आध्यात्मिक नजरिए से देखते-समझते हैं। प्रयागराज में आयोजित हो रहे इस कुंभ मेले में 150 से भी अधिक देशों के लोगों के आने की संभावना है। कुंभ की दिव्यता से भारत की भव्यता पूरी दुनिया में अपना रंग बिखेरेगी।” मोदी ने कहा कि इस साल हम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का 150वां जयंती वर्ष मना रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला को याद करते हुए मोदी ने कहा,”दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा, इस साल गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि के रूप में भारत पधार रहे हैं।

महात्मा गांधी और दक्षिण अफ्रीका का एक अटूट संबंध रहा है।” भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) के बारे में बात करते हुए मोदी ने कहा कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देश भर में बहुत से कार्यक्रम हो रहे हैं, लेकिन एफएसएसएआई का कार्य सराहनीय है क्योंकि खाद्य आदतों पर लोगों को शिक्षित करने वह सभी इन कार्यों से परे जाकर खाद्य आदतों को लेकर लोगों को शिक्षित करने कार्य कर रहा है।उन्होंने आगामी महीने जनवरी में आने वाले त्योहारों की लोगों को बधाई दी, जिसमें मकर संक्रांति, पोंगल व लोहड़ी शामिल हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.