मन की बात में प्रधानमंत्री ने स्कन्द पुराण का जिक्र कर जीता विद्यार्थियों का दिल

 वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रविवार को उनके रेडियो पर प्रसारित ‘मन की बात’ युवाओं को खूब भायी। प्रधानमंत्री के 41वें ‘मन की बात’ संस्करण को कोदई चौकी पर जुटे युवाओं ने चाय की चुस्कियों के बीच सुना। भाजपा अन्त्योदय प्रकोष्ठ महानगर के बैनर तले आयोजित इस कार्यक्रम में बच्चों और किशोरों ने भी प्रधानमंत्री की बात सुनने के लिए उत्साह दिखाया। प्रधानमंत्री ने जब भारत के महान वैज्ञानिक एवं नोबेल पुरस्कार विजेता सर सी वी रमन को याद कर रमन इफ़ेक्ट की खोज, इस दिन को नेशनल साइंस डे के रूप में मनाने जाने की बात कही तो किशोरों ने जमकर तालियां बजाई। प्रधानमंत्री के इस विशेष कार्यक्रम को विज्ञान वर्ग के छात्रों ने खूब सराहा।

प्रधानमंत्री की बात “क्या कभी हमने सोचा है कि नदी हो, समुन्दर हो, पानी रंगीन क्यों हो जाता है? यही प्रश्न 1920 के दशक में एक युवक के मन में आया था। इसी प्रश्न ने आधुनिक भारत के एक महान वैज्ञानिक को जन्म दिया। इसे बीएसीसी के छात्र अनुपम केशरवानी ने सराहा। कहा कि प्रधानमंत्री हर विषय असाधारण पकड़ रखते हैं । यह बातें उनके ज्ञान और अध्ययनशील होने का प्रमाण है। वेद पाठी अंकित झा और कौशल झा को प्रधानमंत्री का स्कंद पुराण पर बातचीत करना हृदय को छू गया। कहा कि शायद पहली बार किसी प्रधानमंत्री ने इस तरह स्कन्द पुराण का हवाला दिया। यह हमारे लिए गौरव की बात है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.