कासगंज में स्थिति तेजी से सामान्य लेकिन सुरक्षाबल चौकस

कासगंज: उत्तर प्रदेश के कासगंज में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के बाद अब स्थिति तेजी से सामान्य हो रही है। बाजार खुलने लगे हैं। लोगों की आवाजाही बढ़ी है, हालांकि एहतियात के तौर पर कस्बे में सुरक्षाबल कड़ी चौकसी रहे हैं। उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर हिंसा में जान गंवा देने वाले चंदन गुप्ता के घर पहुंचकर उनके परिजनों को जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने आज बीस लाख रूपये का चेक सौंपा।

इस बीच जिलाधिकारी आरपी सिंह के साथ पुलिस अधीक्षक एसपी सुनील कुमार और अमापुर क्षेत्र से विधायक देवेन्द्र सिंह को वहां विरोध का भी सामना करना पड़ा। लोगों ने जिला प्रशासन तथा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। लोग इनके आगमन का जोरदार विरोध कर रहे थे। परिजन हिंसा में जान गवा देने वाले बेटे को शहीद का दर्जा दिये जाने की मांग कर रहे थे। मृतक चंदन गुप्ता के परिवार के लोगों ने काफी मान मनौवनल के बाद चेक को स्वीकार किया।

मृतक के घर के आसपास जमा भीड़ ‘हमको चेक नहीं, चंदन चाहिए’ का नारा लगा रही थी। परिवार के लोगों को मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने के साथ ही चंदन को शहीद का दर्जा देने की मांग रखी। परिवार दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर अड़े रहे। चंदन के परिवार के लोगों ने कहा कि तीनों मांगें न माने जाने पर यह लोग अनशन करेंगे। जिलाधिकारी आर पी सिंह ने बताया कि कासगंज का माहौल तेजी से सामान्य हो रहा है और लोग अपने घरों से अब निकल रहे हैं। एहतियात के तौर पर शहर में अभी धारा 144 लागू है। उन्होंने बताया कि पुलिस बल के साथ अधिकारी गश्त कर रहे हैं। कस्बे में ड्रोन कैमरों से भी नजर रखी जा रही है। लोगों से आपसी सद्भाव बनाये रखने और अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की जा रही है। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। पुलिस अब तक 112 से अधिक लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। उन्होंने बताया कि इंटरनेट सेवा अभी बंद है। हालात की समीक्षा के बाद रात को इंटरनेट चालू करने या नहीं करने पर निर्णय लिया जायेगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.